[ad_1]

शाश्वत सिंह/झांसी. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लगातार यह दावे कर रही है कि प्रदेश के बेसिक स्कूलों का स्थिति में बदलाव हो गया है. लेकिन, झांसी का एक प्राइमरी स्कूल इन सभी दावों की पोल खोल देता है. झांसी शहर की कोतवाली के पास बने लक्ष्मीबाई प्राथमिक कन्या विद्यालय में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए एक टॉयलेट भी नहीं है. आलम यह है कि यहां के बच्चे पानी कम पीते हैं ताकि उन्हें टॉयलेट न जाना पड़े. महीनों पहले स्कूल के कायाकल्प का काम शुरू हुआ था. लेकिन आज तक यह टॉयलेट बन नहीं पाया.स्कूल की एक बिल्डिंग में दो अलग विद्यालय चल रहे हैं. एक ही क्लास में दुसरी से लेकर आठवीं तक के बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं. स्कूल में पढ़ने वाली एक बच्ची ने बताया कि मजबूरी में उन्हें कच्चे टॉयलेट में जाना पड़ता है जिसमें पानी भी नहीं आता. एक अन्य बच्ची ने कहा कि वह तो टॉयलेट जाती ही नहीं है. टॉयलेट न होने की वजह से कई बच्चों ने तो स्कूल आना ही छोड़ दिया है.पीने के पानी के लिए भी हैंडपंप के सहारे हैं विद्यार्थीयही स्थिति इस स्कूल में पीने के पानी की भी है. यहां पानी के लिए ना वॉटर कूलर है और ना ही वॉटर फिल्टर लगाया गया है. बच्चों को हैंडपंप से पानी पीना पड़ता है. हैंडपंप की स्थिति यह है कि काफी मशक्कत के बाद थोड़ा सा पानी निकलता है. बेसिक शिक्षा अधिकारी नीलम यादव ने कहा कि स्कूल में रिनोवेशन का काम जारी है. गर्मी की छुट्टियों में इस काम को पुरा कर लिया जाएगा..FIRST PUBLISHED : May 18, 2023, 20:58 IST

[ad_2]

Source link