[ad_1]

हरिद्वार/लखनऊ. देश भर में गंगा स्नान के लिए प्रसिद्ध हर की पौड़ी एक का पानी एक ही रात में सूख गया. हर की पौड़ी में दिखने वाली उफनती गंगा का पानी अब एक पतली सी धार में नजर आ रहा है. चौंकिए मत दरअसल ये केवल एक रखरखाव के काम के चलते हुआ है. सिंचाई विभाग ने गंगा कैनाल का रखरखाव करने क लिए उसे कुछ समय के लिए हरिद्वार से लेकर कानपुर तक के लिए बंद किया है और इस काम के पूरा होते ही कैनाल को वापस खोल दिया जाएगा और हर की पौड़ी में फिर पानी का बहाव शुरू हो जाएगा.
कब तक रहेगी बंदसिंचाई विभाग, गंगा कैनाल के एसडीओ शिवकुमार कौश‌िक ने बताया कि 15 तारीख की देर रात गंगा कैनाल में पानी को रोक दिया गया है. अब ये 4 से 5 नवंबर तक बंद रह सकती है. उन्होंने इस दौरान बताया कि श्रद्धालुओं के लिए हालांकि हर की पौड़ी में इतना पानी रहने दिया जाएगा जिससे वे अपनी पूजा अर्चना व अन्य धार्मिक कार्य कर सकें.

Ganga canal of UP Irrigation dept from Haridwar to Kanpur closed for annual maintenance work
It was closed last night & will remain shut till Nov 4-5. During this, there will be enough water at Har Ki Pauri for the devotees: Shivkumar Kaushik, SDO, Irrigation Dept, Ganga canal pic.twitter.com/qd66apZC4g

— ANI UP (@ANINewsUP) October 16, 2021

किसानों को होगी परेशानीगंगा कैनाल में पानी रोकने के चलते अब उत्तर प्रदेश के 19 जिलों के किसानों के लिए कुछ दिनों की परेशानी खड़ी हो गई है. मुजफ्फरनगर, मेरठ, बुलंदशहर, गाजियाबाद, अलीगढ़, एटा, हाथरस और फिरोजाबाद में पानी की सप्लाई बाधित रहेगी. इस दौरान किसानों को खेतों की सिंचाई के लिए ट्यूबवेल और पंपिंग सेट पर निर्भर रहना पड़ेगा. उल्लेखनीय है कि गंगा नहर उत्तर प्रदेश के 19 जिलों के लिए जीवन रेखा के तौर पर देखी जाती है.
पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

[ad_2]

Source link